रामायण के चोकादेने वाले १० सबूत | Proof of Ramayana in Hindi


Proof of Ramayana in Hindi : दोस्तों रामायण के बारे में तो हम सभी लोग जानते हैं क्योंकि रावण ने किस तरह मां सीता का हरण किया और फिर कैसे रावण को युद्ध में भगवान श्री राम के हाथों हार का सामना करना पड़ा यह सब किस्से कहानियां हम बचपन से ही सुनते आए हैं अब क्योंकि रामायण हिंदू धर्म का एक ग्रंथ है इसलिए हिंदू धर्म को फॉलो करने वाले लगभग सभी लोग इस को पूरी तरह से सच मानते हैं

लेकिन इसके साथ ही दुनिया में ऐसे भी बहुत से लोग मौजूद हैं जो कि रामायण को सिर्फ एक काल्पनिक धार्मिक कहानी मानते हैं और इसी के चलते अक्सर लोगों के मन में यह सवाल उठता रहता है कि रामायण वाकई में एक सच्ची घटना है या फिर सिर्फ कोई काल्पनिक कहानी अब अगर आपके मन में भी इस तरह का कोई सवाल आता है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े  क्योंकि आज हम आपको रामायण से जुड़े 10 ऐसे पक्के सबूतों के बारे में बताने वाले हैं जिन्हें जानकर आपके मन की सारी शंकाएं ही दूर हो जाएंगे

10 Proof of Ramayana – Secrets Of RAVAN

  1. दोस्तों भगवान श्री राम की जन्म तारीख 10 जनवरी 5114 बीती बताई जाती है हाथी उनके जन्म का समय दोपहर के 12:00 से 1:00 के बीच में माना जाता है और उनके जन्म के समय अलग-अलग ग्रहों सितारों और नक्षत्रों की क्या-क्या पोजिशन इन थे इन सभी बातों का विवरण महर्षि वाल्मीकि के द्वारा रामायण ग्रंथ की पहले कांड में अट्ठारह में चैप्टर के अंदर किया गया है अब साल 2012 में इंस्टीट्यूट फॉर साइंटिफिक रिसर्च ऑन विदाउट महर्षि वाल्मीकि के द्वारा भगवान श्री राम के जन्म को लेकर बताए गए उन एस्टॉनोमिकल रेफरेंसेस को जब प्लैनेटेरियम सॉफ्टवेयर में डालकर देखा तो उन्होंने पाया कि ग्राहकों और सितारों की ऐसी पोजीशन 10 जनवरी 5114 बीसी के दिन दोपहर के समय में हुई थी 33 डेट को जब हिंदू कैलेंडर में कन्वर्ट करके देखा गया तो फिर पता चला कि यह डे चैत्र महीने के शुक्ल पक्ष में नौवें दिन दोपहर 12:00 से 1:00 के बीच में आती है यानी कि वही दिन और समय जब हर साल भारत में रामनवमी मनाई जाती है और यह रिसर्च ना सिर्फ रामायण को बल्कि भगवान श्री राम के अस्तित्व को भी साबित करती है
  2. दोस्तों भी कुछ साल पहले ही श्रीलंका के अंदर एक प्राचीन महल खोजा गया था जिसके बारे में यह दावा किया जा रहा था यह रावण का असली महल है खोज में पता चला है कि महल से कई सारे ऐसे गुप्त रास्ते जुड़े हुए हैंजिनके जरिए शहर के अलग-अलग हिस्सों में पहुंचा जा सकता है आपको जानकर हैरानी होगी कि श्रीलंका ने इतिहास में भी यह बताया गया है कि रावण अपने महल से ही शहर के अलग-अलग हिस्सों में अचानक से प्रकट हो जाया करता था ऐसे में आज ही अंदाजा लगाया जा रहा है कि रावण अपने महल में बने इन्हीं गुप्त रास्तों का इस्तेमाल करके शहर के अलग-अलग हिस्सों में पहुंचाया करता होगा ताकि इस महल का खोजा जाना भी अपने आप में रामायण के सच होने का एक पक्का सबूत है
  3. Proof of Ramayana lanka -दोस्तों रामायण में बताया गया है कि हनुमान जी ने रावण की लंका को जला दिया था और आपको जानकर बेहद हैरानी होगी इस तरह लंका में हनुमान जी के द्वारा लंका के जलाए जाने के सबूत आज भी मौजूद है दरअसल रामायण के अनुसार जिस जगह पर हनुमान जी ने लंका को जलाया था उस जगह की मिट्टी का रंग आज भी पूरी तरह से काला है जबकि उसके आसपास की जगहों पर मिट्टी का रंग पूरी तरह से नेचुरल नजर आता है
  4. Proof of Ramayana Dronagiri Parvat -दोस्तों रामायण युद्ध के दौरान जब भगवान लक्ष्मण बुरी तरह से घायल हो गए थे तब उनके जान बचाने के लिए हनुमान जी को हिमालय पर्वत श्रृंखला से संजीवनी बूटी लाने के लिए कहा गया था और जो कि हनुमान जी संजीवनी बूटी को देखकर पहचान नहीं पा रहे थे इसीलिए वह द्रोणागिरी नाम के उस पूरे पर्वत को उठा रहे थे अब रामायण के अनुसार हनुमान जी ने लंका में जिस जगह उस पर्वत को रखा हुआ था उस जगह पर आज भी ऐसा पर्वत मौजूद है जो कि श्रीलंका के बाकी पर्वतों से पूरी तरह से अलग दिखाई देता है यहां तक कि इस पर्वत पर उगने वाले पेड़ पौधे और जड़ी बूटियां भी हिमालय पर्वत की गुणों से मेल खाते हैं और यह पूरे श्रीलंका में हिमालय से मेल खाने वाला अपनी तरह का एकलौता पर्वत है
  5. Proof of ramayana mannar dweep – आपको जानकर काफी हैरानी होगी कि भारत के रामेश्वरम और श्रीलंका के मन्नार द्वीप में कुछ ऐसे अद्भुत पत्थर खोजे गए हैं जो कि वजन में भारी होने के बावजूद भी पानी में डूबने की बजाय ऊपर ही करते रहते हैं अब क्योंकि भारत का रामेश्वरम और श्रीलंका का मन्नार आईलैंड यह दो ऐसी जगह हैं जिनके बीच में रामसेतु बनाया गया इसलिए इन पत्थरों के बारे में यह दावा किया जाता है कि यह वही पत्थर हैं जिन्हें रामायण काल के दौरान रामसेतु को बनाने में इस्तेमाल किया गया था हालांकि आज भी उस जगह पर इस तरह के शेर तो कुछ गिने-चुने पत्थर ही बाकी रह गए हैं और इन पत्थरों पर दुनिया भर के वैज्ञानिक कई तरह की रिसर्च और शोध भी कर चुके हैं लेकिन आज भी इन पत्थरों के इस तरह से पानी में तैरने की असल वजह का पता नहीं लगाया जा सका है
  6. Proof of ramayana ramsetu bridge –  रामायण से जुड़े कुछ ऐसे facts के बारे में जो के ना सिर्फ आम इंसानों को हैरान करता है बल्कि दुनियाभर के वैज्ञानिकों को भी यह अचंभे में डाल देता है दरअसल हम बात कर रहे हैं रामसेतु नाम के उस ब्रिज के बारे में इसको प्रभु श्री रामऔर उनकी सेना के द्वारा लंका जाने के लिए समुद्र के ऊपर बनाया गया था पूरी दुनिया में इस राम सेतु को ऐडम्स ब्रिज के नाम से भी जाना जाता है आपको जानकर बेहद हैरानी होगी कि रामायण में जिस राम सेतु का जिक्र किया गया था वह भी आज दुनिया में मौजूद है दरअसल आर्कियोलॉजी डिपार्टमेंट के एक्सपोर्ट के अनुसार भारत के रामेश्वरम और श्रीलंका के मन्नार द्वीप के बीच समुंदर में पानी के भीतर आज भी एक 30 किलोमीटर लंबा पत्थरों से बना हुआ पुल मौजूद है कुछ समय पहले अमेरिकन आर्कियोलॉजिस्ट चेल्सी रोज ने जब इस पुल के पत्थरों की कार्बन डेटिंग की तो पता चला यह पत्थर आज से करीब 7000 साल पुराने हैं और दोस्तों हैरानी वाली बात तो यह है कि रामायण का समय काल भी आज से करीब 7000 साल पहले यानी कि 5000 बीसी को ही माना जाता है
  7. Proof of Ramayana in Hindi – दोस्तों लंका में राम की एक जगह भी है जहां पर माता का मंदिर हैऔर इस मंदिर के करीबी एक झरना भी बता है जिसके बारे में ऐसा कहा जाता है कि लंका में रहने के दौरान मां सीता इसे झरने में स्नान किया करती थी इसके अलावा इस धरने की करीबी पत्थर पर बड़े बड़े अजीब से दिखने वाले निशान भी मौजूद हैं जिन्हें की हनुमान जी के पैरों के निशान माना जाता है साथ ही इस जगह के बेहद नजदीक वह विशाल पर्वत भी मौजूद है जहां पर बजरंगबली ने लंका आने के बाद अपने पहले कदम रखे थे और इस पर्वत पर भी पैर ठीक वैसे ही निशान देखने को मिलते हैं जैसे ही केवल झड़ने के पास वाली पत्थरों पर मौजूद हैं और यह अपने आप में एक बेहद हैरान कर देने वाली बात है
  8. Proof of Ramayana Pushpak viman – दोस्तों रावण सीता का हरण करके उन्हें पुष्पक विमान के जरिए लंका लेकर गया था और उन पुष्पक विमानों की अपनी कई अलग-अलग खासियत हुआ करती थी कहा जाता है कि अग्नि और वायु की उर्जा से उड़ने वाले विमान के आकार को जरूरत के हिसाब से छोटा या फिर बड़ा किया जा सकता थाऔर बड़ा होने पर इसका आकार इतना बड़ा हो जाता था इसमें रावण की पूरी सेना एक साथ सफर कर सकती थी कहते हैं कि रावण के पास एक नहीं बल्कि कई सारे पुष्पक विमान थी और उन विमानों के उड़ने के लिए खास जगह भी बनाई गई थी जो कि उस समय उन विमानों के लिए हवाई अड्डे माने जाते थे अब श्रीलंकन पुरातत्व विभाग की मानें तो उस समय इन विमानों के लिए झावर के पास कुल 4 एयरपोर्ट हुआ करते थे जिनके नाम हुसैन गोंडा गुरु लोको था तो तू पहला कंधा और वरिया पोला बताए जाते हैं और जिन जगह पर यह एयरपोर्ट बनाए गए थे वह जगह श्रीलंका में आज भी मौजूद है
  9. Proof of Ramayana jatayu – दोस्तों रामायण में बताया गया है कि जब रावण सीता का हरण करके पुष्पक विमान के जरिए उन्हें अपने साथ लंका लेकर जा रहा था तब रावण को रोकने के लिए जटायु नाम की एक गधे जैसे दिखने वाले विशाल पंछी ने उस पर हमला कर दिया था इस लड़ाई के दौरान रावण ने जटायु का एक पंख काट दिया था जिसके बाद से वह पगली एक पहाड़ी पर जा गिरा था अब रामायण में जिस पहाड़ी का जिक्र किया गया है वह हमारे भारत के अंदर केरल राज्य के कोल्लम जिले में आज भी मौजूद और जिस जगह पर वह जटायु पक्षी गिरा था ठीक उसी जगह उस पंछी की एक बहुत बड़ी मूर्ति भी बनाई गई है वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें एक पंक्ति के रूप में बनाई गई यह दुनिया की सबसे बड़ी मूर्ति है और लोग इसको स्टैचू आफ जटायु के नाम से भी पुकारते हैं जो कि देखने में वाकई अद्भुत नजर आती है
  10. Proof of Ramayana Ashok Vatika – रामायण के अनुसार मां सीता ने रावण के महल में रहने से इंकार कर दिया था इसलिए रावण ने मां सीता का हरण करने के बाद उन्हें अशोक वाटिका नाम के गार्डन में रखा था और दोस्तों आपको यह बात जानकर काफी हैरानी होगी कि हमारे पड़ोसी देश से लंका की अशोक वाटिका नाम का वह गार्डन आज भी मौजूद है और आज लंका में उस गार्डन को अगला बोटैनिकल गार्डन के नाम से जाना जाता है इस गार्डन के सबसे खास बात यह है कि रामायण के अंदर अशोक वाटिका के पेड़ों का जैसा वर्णन किया गया है ठीक वैसे ही पेड़ इस गार्डन में आज भी मौजूद है साथी अशोक वाटिका के जिस जगह पर सीता मां को रखा गया था उस विशेष स्थान को इस गार्डन के अंदर सीता अगले का नाम दिया गया है

 

दोस्तों यह थे रामायण के चोकादेने वाले १० सबूत (Proof of Ramayana) वैसे आपका इस के बारे में क्या कहना है हमें कमेंट करके जरूर बताइएगा और आपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करना

Read Also :

  1. भारत के 10 ऐसे महान लोग
  2. Top 3 Instagram Money Making Niches in 2021

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post