पर्सनल फाइनैंस क्या होता है | What is Personal Finance?

पर्सनल फाइनैंस क्या होता है : Personal finance का हिंदी में अर्थ होता है व्यक्तिगत प्रबंध, ersonal Finance एक बहुत बड़ा विषय है...
पर्सनल फाइनेंस क्या होता है

आज के इस ब्लॉग में हम जानने वाले है की पर्सनल फाइनेंस क्या होता है? तो इसके लिए यह ब्लॉग पूरा और अच्छे से पढ़े ताकि आपको पता चले पर्सनल फाइनेंस क्या होता है? तो चलिए जानते हैं Personal Finance के बारे में ।

जब कभी हम Finance की बात करते है तो मुख्यता तीन प्रकार के Finance होते हैं जो कि आप सभी लोगों को पता होंगे पहला होता है Personal Finance, दूसरा होता है Corporate Finance और तीसरा होता है Public Finance उनमें से सबसे पहला Finance होता है वो होता है Personal Finance तो आज के इस Blog में जानने वाले हैं कि आखिरकार पर्सनल फाइनेंस क्या होता है?

Table of Content

1. पर्सनल फाइनैंस क्या होता है?
2. पर्सनल फाइनैंस में क्या क्या शामिल होता है
3. Final Word

पर्सनल फाइनेंस क्या होता है? । What is Personal Finance?

Personal finance का हिंदी में अर्थ होता है व्यक्तिगत प्रबंध इसे इंग्लिश में बोला जाए तो कहते हैं पर्सनल मनी मैनेजमेंट, Personal Finance किसी व्यक्ति और उसके धन से जुड़ा एक ऐसा विषय है जो धन संभालने और उसको पैसे की नियंत्रित के साथ साथ उसका धन ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाने के तरीके को सीखाता है

दूसरे शब्दों में कहें तो किसी व्यक्ति के धन कमाने और खर्च करने को खर्च के साथ साथ उस व्यक्ति के बचत और निवेश से संबंधित पैसे से जुड़ी बातों और उससे आर्थिक फैसलों को हम उसका पर्सनल फाइनेंस कहते हैं और बिल्कुल आम भाषा में बात की जाए तो हम में से किसी भी हम में से हर किसी का पैसे हैंडल करने का अपना अपना एक तरीका होता है और इसे अलग अलग पैसे मैनेज करने के तरीके को ही हम फाइनैंस की भाषा में Personal Finance कहते हैं इस तरह पर्सनल को पैसो को हैंडल करने का एक महत्वपूर्ण विषय है इस विषय में सभी तरह के के Finance Decision जैसे हमारे घरेलू पारिवारिक स् थिति, व्यक्तिगत रूप से कमाने के खर्चे और बचत और निवेश शक के तरीके शामिल किए जाते हैं

पर्सनल फाइनेंस में क्या क्या शामिल होता है?। What is Included in Personal Finance?

दोस्तों Personal Finance एक बहुत बड़ा विषय है जो अलग अलग व्यक्ति द्वारा उसके पैसों के लेनदेन Money Transaction से जुड़ा हुआ विषय है इस तरह अगर बात करें कि पर्सनल फाइनेंस के अंदर क्या क्या चीजें आती हैं, आप पैसे का व्यवहार कहाँ, कहाँ और कैसे कैसे करते हैं तो इस तरह से आप जो भी व्यवहार पैसे से जुड़ा हुआ है, देखें वह सब व्यवहार Money Transaction Personal Finance से जुड़ा हुआ होता है जैसे Income Salary Budget, Monthly Expenses, Bill Payment, Shopping, Bank Account, Credit Card, Home Loan, Personal Loan, Stock Market, Portfolio Investment, Life Insurance & Health Insurance और दूसरे Insurance कर्ज और इसी तरह की Loan और कर्ज, Property, हमारे liabilities और हमारे इस तरह Future Planning, Retirement, Child Education, Holiday Trip की सभी चीजें हैं जो आपके पैसे से जुड़ी हुई हो वो सब आपके पर्सनल फाइनेंस से संबंधित होता है .

पर्सनल फाइनेंस की अलग अलग कैटरिंग, गरीबी होती है जैसा कि मैंने पहले भी बताया है पर्सनल फाइनेंस एक बहुत बड़ा विषय है इस तरह के पर्सनल फाइनेंस के अंदर आने वाले सभी तरह की चीजों को कैटेगरी में बांटा जा सकता है ताकि पर्सनल फाइनेंस के सब्जेक्ट को अच्छी तरह से समझने में आसानी हो सके जैसे बजट.

1) बजट

बजट हमारे सभी तरीके के इनकम और खर्च में शामिल होते हैं.

2) बीमा इन्श्योरेन्स

दूसरी कैटगरी को हम बात करें तो बीमा इन्श्योरेन्स किसी भी तरह की बीमा योजना जो हर समय हम लेते रहते हैं लाइफ इन्श्योरेन्स, हेल्थ इन्श्योरेन्स, घर गाड़ी, अन्य इन्षुरेन्स.

3) टैक्स

तीसरा है टैक्स जिसमें कुछ प्रमुख टैक्स है Income Tax, TDS, और दूसरे जो भी है

4) बचत और निवेश

बचत और निवेश यानी सेविंग और इन्वेस्टमेंट

5) फाइनैंशल प्लानिंग

जिसमें हम फाइनेंशियल फ्रीडम, रिटायरमेंट, बच्चों की एजुकेशन, शादी और अन्य चीजों को खर्च की योजना बनाते है, उस समय काम करते हैं. इसके अलावा भी पर्सनल फाइनेंस की बहुत सारी कैटेगरी बनाई जा सकती है, लेकिन इन पांच कैटगरी को ही प्रमुख माना गया है.

हर व्यक्ति का पर्सनल फाइनेंस अलग अलग होता है धन एक बहुत ही व्यक्तिगत विषय है और आप ध्यान रखेंगे तो इस तरह के तथ्य को भी समझेंगे कि हर व्यक्ति की धन कमाने की क्षमता एक दूसरे से अलग अलग होती है इसका मतलब यह है कि हर व्यक्ति के धन को खर्च करने, बचत करने और निवेश करने के बारे में एक दूसरे से बिल्कुल अलग सोचता है यही कारण है कि धन को मैनेज करना एक व्यक्तिगत विषय बन जाता है इसलिए धन को मैनेज करने के लिए इस विषय को Personal Finance नाम दिया गया है ।

Personal Finance को समझना बहुत ही जरूरी होता है दोस्तों घूमा फिरा के अच्छी पढ़ाई अच्छे मार्क्स स्कूल में ऐडमिशन और एक बेहतरीन डिग्री पाने के लिए हम सभी का एक मकसद होता है ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाना और पैसों को मैनेज करना तो ये था कुछ Personal Finance की बात है ।

Final Word

दोस्तो पर्सनल फाइनेंस क्या होता है इसकी छोटी सी इंफॉर्मेशन आपको कैसी लगी? कमेंट बॉक्स में जरूर बताये और यह ब्लॉग आपको अगर पसंद आया हो तो इस आर्टिकल को आपने दोस्तो और के साथ जरूर शेयर करे ।